बुधवार, 8 जनवरी 2014

बाहर जो भी सृजन-विनाश होता है वो आत्मा नहीं हैं- ओशो सिद्धार्थ