रविवार, 5 जनवरी 2014

शरणागत,समर्पण तथाता एक ही चीज है- ओशो सिद्धार्थ