बुधवार, 8 जनवरी 2014

दूल्हा-दुल्हिन मिल गए फीकी पड़ी बारात- ओशो सिद्धार्थ